आप कैसे दिखते है?

हम सदैव किसी न किसी प्रस्तुतिकरण के दौर में रहते है। हर समय हमें बहुत से लोग देख रहे होते है। जब वह हमें देखते है तो हमारे बारे में सोचते है। हमारी छवि का आकलन करने लगते है। यह सब वह होते है जो रोज ही हमसे मिलते है। लेकिन जब हम अन्जान लोगो से मिलते है तब तो वह सबसे पहले अपनी धारणा सिर्फ हमें देखकर बनाते है की सामने वाला व्यक्ति किस प्रकार का है। बातचीत करना अगला कदम होता है और कई बार तो ऐसा होता है कि आप सिर्फ एक ही व्यक्ति से मिलते है या बात करते है अपना असर उसपर छोड़ते है लेकिन बाकी लोग जिन्होने आपसे बात नही की वह भी आपका आकलन करते है कि आप किस तरह के व्यक्ति है। जैसे किसी कम्पनी में आप वहां के मालिक से मिलने जाते है या फिर किसी शादी, समारोह मे जाते है सब से मिल पाना या बात कर पाना मुमकिन नही हो पाता लेकिन वह आपको देख रहे होते है आपके व्यक्तित्व का अंदाजा लगाते है। तो यह भी एक प्रस्तुतिकरण का दौर है जहां आप किसी बात को समझाकर या बताकर अभिव्यक्त नही करते बल्कि आपकी ड्रैस सेन्स, बॉडी लेग्वेज आपको दूसरो के सम्मुख प्रस्तुत कर रही होती है। आप कैसे दिखते है इस बात को समझने के लिये हमें कुछ बातों का खास ध्यान रखना होता है
शरीर की सफाई और स्वच्छता
कपड़े किस तरह के हो
जूते और चप्पलों के प्रकार
आभूषण, घड़ी, कड़ा, कलावा आदि
सबसे पहले बात करते है शरीर की सफाई और स्वच्छता के बारे में हमारे दिखने के सारे प्रकरण में यह सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है आप अपने शरीर की सफाई करते है। आपके हाथ पैर साफ तरह से हो उन पर मैल न चढ़ा हो। हमारे घूटने, कोहनीयां, कमर, गरदन, जाघें आदि सब बिल्कुल साफ तरह हमने धोया है या फिर बस ऐसे औपचारिकतावश हम नहा लेते है तो इसका ध्यान रखें। दूसरी बात जो अक्सर बहुत से लोग ध्यान नही रखते है उनके कान बहुत गन्दे होते होते है। एक बार दिल्ली से घर लौटते हुए मैं बस से सफर कर रहा था। तभी मेरे बराबर में एक बेहद सुन्दर लड़की आकर बैठ गई मैने सोचा चलो रास्ते भर इनसे बातें करते हुए कट जाएगा। थोड़ी देर बाद मैने उस लड़की की तरफ गर्दन मोड़ी तो मुझे उसका कान दिखाई दिया जो बेहद गन्दा और मैल से भरा हुआ दिखाई दे रहा था। मैने फिर दोबारा उसकी तरफ नही देखा। ऐसे ही बहुत सारे लोगो के कान गन्दे होते है। वह उसकी सफाई नही करते है। इसके बाद आता है हमारे नाक की सफाई। नाक हमारे चेहरे का सबसे सुन्दर हिस्सा होती है। नाक की बदौलत ही हम सुन्दर दिखाई देते है। अक्सर पुरूष लोग अपने नाक के बाल ठीक तरह से नही काटते है और वह नाक से बाहर आते हुए दिखाई देते है जो बेहद गन्दे दिखाई देते है हमारे पास एक छोटी कैची होनी चाहिए इसके साथ ही हमारी नाक अन्दर से बिल्कुल साफ होनी चाहिए। महिलाओं और लड़कियो को इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि उनकी नाक साफ है की नही। मेरे आफिस में जो रिसेप्सनिस्ट है वह नाक मे बाली पहनती है उसकी नाक भी गन्दी रहती है और.....। कुछ लोगो को एक गन्दी आदत होती है की वह कही भी अपनी उंगली नाक में चला देते है उन्हे यह गन्दा काम करते हुए शर्म नही आती है यह बात आपको बेहद फूहड़ और पिछड़ा हुआ शो करती है। मैने अक्सर कई बड़े स्टारो को बेहद करीब से देखा और बातचीत की तो पाया ये लोग अपनी चेहरे, कान, नाक आंख की बहुत सफाई रखते है। इसके बाद बात करते है हमारे दांत कैसे दिखते है वह पीले है या क्रिम कलर के है या फिर सफेद मोतीयो से चमकते हुए है इसके साथ ही बहुत जरूरी बात कि आप के मुंह से बदबू तो नही आती है अक्सर बहुत सारे लोगो के मुंह से सड़ी हुई बदबू आती है जो हमारे वजूद को खतरे मे डाल देती है इससे हम लोगो के प्रिय नही बन सकते किसी से किस करना तो बेहद दूर की बात है हा हा हा।
अगर आप इतना ध्यान कर लेगे तो भी हम एक दूसरे के करीब आसानी से आ सकते है आगे आपसे इसी तरह की अन्य पहलूओ पर बात करेगें यह सब बाते और व्याख्यान है जो अलग-अलग समय पर मैने अपनी क्लासों मे दिये है। इसकी एक लम्बी कड़ी है आप लोगो का साथ रहा तो आगे और भी बातें करेगे देखते है आपकी क्या टिप्पणी रही।
इरशाद

1 comment:

Raviratlami said...

सही कहा आपने - हर व्यक्ति अपने आपको प्रस्तुत करता है. बहुत ही उम्दा लिखा है आपने.